• 25-05-2024 16:52:17
  • Web Hits

Poorab Times

Menu

विपक्षियों और राहुल गांधी का विवेकहीन डरावना ऐलान , अगर भाजपा इस बार जीती और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो देश में कयामत आ जाएगी ?  क्या वे इतने बुद्धिमान हो गए हैं कि आम जनता को वे मूर्ख समझने लगे हैं ?

गुस्ताखी माफ

विपक्षियों और राहुल गांधी का विवेकहीन डरावना ऐलान , अगर भाजपा इस बार जीती और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो देश में कयामत आ जाएगी ?  क्या वे इतने बुद्धिमान हो गए हैं कि आम जनता को वे मूर्ख समझने लगे हैं ?

कल की हमारी चौपाल में यह मुद्दा उठा था कि भाजपा यह किस तरह का प्रचार कर रही है कि यदि कांग्रेस जीती तो वह आम जनता की संपत्ति लूट लेगी . उस बात के विपरीत आज की पत्रकार माधो की राजनीतिक चौपाल में हमारा एक पत्रकार साथी बोला , डरा धमका कर , आम जनता को भाजपा से विमुख करने की कोशिश कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियां भी कर रही हैं . अपने बयानों व भाषणों से उन्होंने ऐसे माहौल बनाने की कोशिश की है कि प्रधानमंत्री सहित पूरी भाजपा रक्षात्मक मुद्रा में आकर सफाई देने लगी है . अब दूसरा पत्रकार साथी बोला , सचमुच , चुनाव के परिणाम में कोई असर हो या ना हो , छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश के भाजपाई अपने आप को संविधान की रक्षा करने वाला सच्चा सिपाही बताने की जुगत में लग गए हैं . गृहमंत्री अमित शाह जहां अपने हर भाषण में आरक्षण के बहाल रहने की दलील देते नज़र आए हैं , वहीं प्रधानमंत्री मोदी अपने अतिश्योक्तिपूर्ण बोले में उनसे दो कदम आगे नज़र आते हैं . प्रधानमंत्री बोलते फिर रहे हैं कि  मोदी 56 इंच का सीना लिये संविधान बदलने की राह में पहाड़ की तरह खड़ा रहेगा . अब हमारा तीसरा साथी बोल उठा , कांग्रेस सहित विपक्षी पार्टियों के आरोप भी तो बेहद संगीन हैं . वे कह रहे हैं कि भाजपा 400 से ज़्यादा सीटों की बात इसलिये कर रही है क्योंकि वह संविधान बदलना चाहती है . नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो देश में पुराना संविधान समाप्त हो जाएगा। बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर का बनाया संविधान पूरी तरह बदल दिया जाएगा या बकौल राहुल गांधी उसको फाड़ कर फेंक दिया जाएगा। लोकतंत्र समाप्त हो जाएगा। देश में फिर कोई चुनाव नहीं होगा। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ी जातियों को मिलने वाला आरक्षण समाप्त कर दिया जाएगा। अब मैं बोल उठा , सही में , पिछले एक पखवाड़े से विपक्षी पार्टियों व सत्ता पक्ष का पूरा फोकस इस बात पर है कि वे आम जनता को डरायें कि यदि सत्ता, दूसरे पक्ष को सौंपी तो आम जनता पर मुसीबतों का पहाड़ टूट जायेगा . अंत में पत्रकार माधो बोले , जिस तरह से भाजपा द्वारा कांग्रेस के बारें में प्रसारित डरावनी बातें तथ्यहीन हैं ,  उसी तरह कांग्रेस द्वारा भाजपा के बारे में फैलाई जा रही भ्रांतियां भी गलत हैं कि  भाजपा सत्ता में आई तो बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर का बनाया संविधान बदल देगी। यह एक अमूर्त सी बात है क्योंकि विपक्षी पार्टियां यह नहीं बता रही हैं कि संविधान में कुछ चीजें बदली जाएंगी या पूरा संविधान ही बदल कर नया संविधान बनाया जाएगा। लेकिन अब बात यहां तक पहुंच गई है कि राहुल गांधी संविधान की एक प्रति हाथ में लेकर चुनावी सभाओं में जा रहे हैं और लोगों को दिखा कर कह रहे हैं कि भाजपा तीसरी बार जीती तो इस किताब को बदल देगी। उन्होंने एक सभा में यह भी कहा कि भाजपा संविधान को फाड़ कर फेंक देगी। दूसरी ओर इसके जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कहना पड़ रहा है कि मोदी की क्या बिसात है, अब अगर बाबा साहेब खुद आ जाएं तब भी वे संविधान को नहीं बदल सकते हैं। अब चुनाव का परिणाम जो भी आए , इस तरह का प्रचार मतदाताओं में एक ना एक पक्ष के प्रति डर व नफरत का भाव पैदा कर रहा है .

इंजी . मधुर चितलांग्या,प्रधान संपादक , दैनिक पूरब टाइम्स   

Add Rating and Comment

Enter your full name
We'll never share your number with anyone else.
We'll never share your email with anyone else.
Write your comment
CAPTCHA

Your Comments

Side link

Contact Us


Email:

Phone No.