• 23-05-2024 08:56:40
  • Web Hits

Poorab Times

Menu

दुर्ग-भिलाई समाचार

लीज़ मामले में, "कांग्रेस के मतभेद उजागर हुए"

रिसाली की महापौर ने लीज़ मामले को महत्व नहीं देकर भिलाई के महापौर को प्रश्नंकित कर दिया 

दुर्ग कलेक्टर ने बीएसपी लीज़ मामले में भिलाई के महापौर के बयानों को महत्व नहीं दिया 

दुर्ग कलेक्टर ने बीएसपी लीज़ मामले में भिलाई के महापौर के बयानों को महत्व नहीं दिया 

पूरब टाइम्स , भिलाई . बीएसपी से लीज़ मामले में अभी तक राजनैत्क घमासान चल रहा है . जहां एक ओर भिलाई महापौर की टीम, पेपर में बड़े बड़े विज्ञापन व व्यक्तव्य देकर इसे अपनी जीत बता रही है , वहीं भाजपा के पूर्व विधायक प्रेमप्रकाश पांडेय ने फेसबुक लाइव जाकर इस मामले व दावे को महत्वहीन बताने की कोशिश की है. इन सबसे आम जनता में भारी भ्रम फैलने लगा है . ना बीएसपी प्रशासन और ना ही जिला प्रशासन की तरफ से किसी भी पब्लिक डोमेन में इस मामले के प्रमाणित कागज़ दिखाये गये हैं और ना ही स्पष्टीकरण दिया है . अनेक समाजसेवी इस मामले में स्पष्टता नहीं मिलने पर कोर्ट जाने की तैयारी में हैं. सूत्रों के अनुसार संबंधित विभागों के अधिकारियों को नोटिसें भी दे दी गईं हैं. इधर भिलाई में कांग्रेस का दूसरा ध,ड़ा इस मामले में किसी भी प्रकार की कोई प्रतिक्रिया या उत्साह नहीं दिखा रहा है , इससे लोगों में भिलाई के महापौर के प्रति संदेह बढ़ रहा है . पूरब टाइम्स की एक रिपोर्ट ..

जन सामान्य के नागरिक अधिकार से समाज सेवक मदन सेन ने भिलाई के महापौर को नोटिस पकड़ाया 

.भिलाई इस्पात संयंत्र के भवनों का लीज़ मामला विगत दिनों से राजनैतिक घमासान का मुद्दा बना हुआ है क्योंकि लीज़ धारियों में आम और खास दोनों प्रकार के लोग है पार्षद, महापौर, विधायक के साथ - साथ अधिकारी, कर्मचारी, व्यवसाई भी लीज़धारी है इसलिए सभी का ध्यान लीज़ से जुड़ी खबरों पर है . लेकिन किसी को इस वस्तुस्थिति की जानकारी नहीं है कि लीज़ मामले में बीएसपी प्रबंधन, भिलाई और रिसाली के नगर निगम, दुर्ग कलेक्टर, राज्य शासन और केंद्रीय इस्पात मंत्रालय ने क्या कानून बनाएं है और दिशा निर्देश जारी किए है ? इसलिए समाज सेवक मदन सेन ने इस जानकारी को सर्व साधारण की जानकारी में लाने के लिए सभी संबंधितों को नोटिस देकर उनके पदेन कर्तव्यों का संज्ञान करवायाहै . जिसके बाद से इस लीज़ मामले ने नया मोड़ ले लिया है और यह मामला न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किए जाने की दिशा में बढ़ गया है ।

पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने भिलाई महापौर के बयानों पर जवाब देने की खानापूर्ति कर दी

.बीएसपी के लीज़ मामले में भाजपा आक्रामक नजर आईं लेकिन पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने जब इस मामले में प्रतिक्रिया दी तो भाजपा के छवि को गहर धक्का लगा क्योंकि पूर्व विधायक ने अपनी प्रतिक्रिया में सिर्फ स्वयं का बचाव ही किया . कोई भी ऐसी कार्यवाही करने के लिए पूर्व भिलाई विधायक ने घोषणा नहीं की जोकि भिलाई के महापौर के स्वस्तुति वाले बयानों का स्पष्ट खंडन करती हो. जबकि पूर्व विधायक विधिक कार्यवाही प्रक्रिया से खंडन करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे , इस बात की चर्चा भिलाई में जोरों पर थी लेकिन पूर्व विधायक ने भिलाई के महापौर के बारे में कुछ भी टिप्पणी नहीं करके, राजनीतिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण संकेत दे दिया, वह यह है कि भिलाई का महापौर आगामी विधानसभा में स्वयं को विधायक प्रत्याशी बनाने का प्रयास ना करें और लीज़ मामले के बहाने से अपनी विधानसभा दावेदारी का आधार बनाने के लिए बीएसपी के भवनों के लीज़ धारियों की भावनाओं से खिलवाड़ न करें .

रिसाली कि महापौर ने लीज़ मामले से स्वयं को अलग रखकर भिलाई के महापौर की आत्मस्तुति को आईना दिखाया

.लीज़ मामले में जब से भिलाई के महापौर ने आत्म स्तुति वाले बयान दिए है , तब से रिसाली की महापौर ने स्वयं को इस मामले से अलग रखकर यह साबित कर दिया कि कांग्रेस दुर्ग जिले में खेमों में बंटी है . सभी खेमों का अपना अलग अस्तित्व है तथा अपनी अलग सोच समझ है . रिसाली की महापौर ने लीज़ मामले में भिलाई के महापौर के बड़बोलेपन का समर्थन नहीं करके इस बात को साबित भी कर दिया है कि रिसाली कि महापौर जिस खेमे से जुड़ी है, उसके लिए लीज़ मामला महत्वहीन है और रिसाली के महापौर का खेमा भिलाई के महापौर के खेमे को महत्व देने के लिए बाध्य नहीं है . यहां उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनावों के ठीक पहले कांग्रेस वीआईपी जिले दुर्ग में बीएसपी लीज़ मामले जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे पर बट गई जबकि भिलाई और रिसाली महापौर का खेमा यह भली-भांति जानता है कि बीएसपी लीज़ मामला दुर्ग ग्रामीण, भिलाई, वैशाली नगर, अहिवरा और पाटन विधानसभा को सीधे तौर पर प्रभावित कर सकता है .

Add Rating and Comment

Enter your full name
We'll never share your number with anyone else.
We'll never share your email with anyone else.
Write your comment
CAPTCHA

Your Comments

Side link

Contact Us


Email:

Phone No.