• 19-04-2024 17:01:52
  • Web Hits

Poorab Times

Menu

वर्षा जल संचयन  (Rain Water Harvasting)   प्रणाली बनाने की विधि

 

भूजल के जबर्दस्त दोहन से लगातार पानी का स्तर नीचे जा रहा है। शहरीकरण के कारण प्राकृतिक रिचार्ज क्षेत्रों मे भारी गिरावट हो रही है जिसके कारण भूजल का स्तर बहुत नीचे हो गया है अथवा कई जगहो पर तो उसे निकालना ही असंभव हो गया है।  इससे पेयजल की किल्लत हो रही है। वर्षा के अनियमित पैट्रन, कभी अति वर्षा और कभी सूखा जैैैसी घटनाओं के कारण बारिश का पानी यूँ ही बहकर बर्बाद हो जाता है।

वर्षा जल को बचाकर संचय करने से साल भर उसका इस्तेमाल किया जा सकता है। वर्तमान परिस्थिति मे वर्षा जल संचयन अत्यंत उपयोगी हो सकता है। इससे पेड़-पौधों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी। बड़े शहरों में पानी की समस्या में बहुत हद तक कमी आ सकती है। इससे सप्लाई वॉटर या अंडरग्राउंड वॉटर का इस्तेमाल कम होगा और उसकी बचत होगी।

कैसे करें रेनवॉटर हार्वेस्टिंग
सबसे पहले इसे सही तरीके से समझने की जरूरत है। बारिश के पानी को हम जहाँ से भी ज्यादा-से-ज्यादा इकट्ठा कर सकते है, रेनवॉटर हार्वेस्टिंग वहीं होनी चाहिए। छत इसके लिए सबसे मुफीद जगह होती है। सोसायटीज और खुद की जमीन पर अपने हिसाब से घर बनाने वालों के लिए वॉटर हार्वेस्टिंग आसान है और इसे अनिवार्य भी बनाया जा रहा है। 

रेन वाटर हार्वेस्टिगं सिस्टम  

वॉटर हार्वेस्टिंग के लिए गड्डे का साइज कितना होगा, इसके लिए एक सामान्य फार्म्युला है : छत का एरिया X 0.8 X 0.025
मान लें कि आपकी छत का एरिया 100 मीटर है तो 100 X 0.8 X 0.025 = 2 क्यूबिक मीटर आयतन वाला गड्ढा बनेगा। इस पिट की गहराई 2 मीटर होगी। लम्बाई और चौड़ाई 1' मीटर होगी तथा इस गड्डे की क्षमता लगभग 2000 लीटर पानी स्टोर करने की होती है।

पिट यानी गड्ढे खुदवाने के बाद उसमें नीचे की ओर फिल्टर मीडिया लगवाया जाता है। यह ईंट, चारकोल या एक्टिवेटिड कार्बन, बालू आदि से मिलकर बनता है।

छत के क्षेत्रफल के हिसाब से गड्ढा करवाएँ।
सबसे नीचे का हिस्सा कच्ची मिट्टी का होगा।
कुछ जगहों पर कच्ची मिट्टी से एक पाइप 50 फिट तक डाला जाता है ताकि पानी धरती के नीचे आसानी से पहुँच सके।
उसके ऊपर लगभग 50 सेंटीमीटर तक पकी हुई ईंट (40/50/63 मिमी साइज) लगेगी।
ईंट के ऊपर लगभग 1.5-2 मिमी. ऊँचाई तक चारकोल डाला जाता है।
चारकोल के ऊपर 20 सेमी ऊँचाई तक रेत भरते हैं।
रेत के ऊपर जियो टेक्सटाइल मेंब्रेन (एक तरह का वॉटर फिल्टर करने वाला कपड़ा जो हार्डवेयर शॉप्स में मिल जाता है।) लगाते हैं। इसकी कीमत 60-वर्ग मीटर है।
पिट के चारों तरफ आरसीसी पैनल के साथ ईंट से बाउंड्री बनवा लेना बेहतर रहता है।
पिट को ढकने के लिए लोहे की ग्रिल या प्रीकास्ट स्लैब का उपयोग कर सकते हैं।

क्या रखें ध्यान
ऐसे रिचार्ज पिट इमारत की फाउंडेशन या बेसमेंट से कम से कम 5 मीटर पर हो।
ऊपर लिखे फिल्टर मीडिया की जगह पर मल्टिपल लेयर में ‘‘जूट मैट’’ का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
किसी भी तरह का वेस्ट वॉटर रिचार्ज स्ट्रक्चर के अन्दर नहीं पहुँचे।
रिचार्ज स्ट्रक्चर की गहराई 1 से 4 मीटर तक हो।
छत को किसी भी तरह के केमिकल से पेंट नहीं होना चाहिए।
छत पर किसी भी तरह का केमिकल, जंग लगा हुआ लोहा, खाद या सर्प आदि नहीं होना चाहिए।
ऐसे किसी भी एरिया में रेनवॉटर हार्वेस्टिंग करने की जरूरत नहीं, जहाँ मानसून के बाद अंडरग्राउंड वॉटर का स्तर 5 मीटर या इससे कम हो। इससे ज्यादा गहराई पर पानी हो, तभी इसकी जरूरत है।  

Add Rating and Comment

Enter your full name
We'll never share your number with anyone else.
We'll never share your email with anyone else.
Write your comment
CAPTCHA

Your Comments

Side link

Contact Us


Email:

Phone No.