गुस्ताखी माफ़

संस्मरण : अनुभव को प्रणाम करना सीखा

सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री लेकर मैं , पूना में शिर्के सिपोरेक्स ( मल्टीनेशनल कंपनी) में नौकरी...

मानो या न मानो , गालियों का है ज़माना . पढ़िये नई नई गालियों...

गुस्ताखी माफमानो या न मानो , गालियों का है ज़माना . पढ़िये नई नई...

शायरी कलेक्शन भाग 7 : मिली-जुली शायरियां

नमस्कार ,पिछले कई हफ्तों में मैंने मज़ेदार शायरिया , जोश भर देने वाली व मंच संचालन के वक़्त बोली जासकने वाली...