• 28-02-2024 19:40:08
  • Web Hits

Poorab Times

Menu

छत्तीसगढ

लोकतंत्र की दरबार में आज दिग्गजों की परीक्षा, सीएम बघेल समेत 10 मंत्रियों की प्रतिष्‍ठा दांव पर

छत्तीसगढ़ में लोकतंत्र का आज महापर्व है। प्रदेश के 90 विधानसभा में से 70 सीटों पर दूसरे चरण का मतदान जारी है। इस चुनाव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव समेत 10 मंत्रियों की साख दांव पर है। वहीं भाजपा की ओर से 13 पूर्व मंत्री और चार सांसद भी चुनावी मैदान में लड़ रहे हैं। पाटन विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में गृहमंत्री व कांग्रेस प्रत्याशी ताम्रध्वज साहू चुनाव लड़ रहे है। जिले के अन्य चार सीटों पर भी कांग्रेस भाजपा के दिग्गज नेता आमने सामने है।

पाटन की सीट पर भूपेश और विजय बघेल

पाटन विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सातवीं बार मैदान में है। वे इस सीट से वर्ष 1993 से लगातार चुनाव लड़ रहे हैं। उन्हें पांच बार विजय मिली है जबकि वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में वे पराजित हुए थे। यह प्रदेश की हाईप्रोफाइल विधानसभा सीट है। इस कारण विधानसभा सीट पर सबकी निगाहें लगी हुई है इसी क्षेत्र से दुर्ग सांसद व भाजपा प्रत्याशी विजय बघेल मैदान में है। विजय बघेल इस विधानसभा क्षेत्र से पहले भी तीन बार चुनाव लड़ चुके हैं। वर्ष 2003 में वे राकंपा से चुनाव लड़े थे जिसमेंं उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था। वहीं वर्ष 2008 में उन्हें जीत मिली थी। लेकिन वर्ष 2013 के चुनाव में अपनी सीट नहीं बचा पाए थे। इसी सीट पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी भी चुनावी मैदान में हैं।

उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव और राजेश अग्रवाल

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव 2008 से अंबिकापुर के विधायक हैं। अंबिकापुर सीट से चौथी बार चुनाव मैदान में हैं। संगठन में मजबूत पकड़ के कारण वह कांग्रेस के मजबूत प्रत्याशी माने जाते हैं। इस बार उनका मुकाबला भाजपा के राजेश अग्रवाल से है जो कांग्रेस से ही भाजपा में शामिल हुए हैं। विधानसभा क्षेत्र के छोटे से नगर पंचायत लखनपुर के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

गृहमंत्री ताम्रध्वज और ललित चंद्राकर का मुकाबला

दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से गृहमंत्री व कांग्रेस प्रत्याशी ताम्रध्वज साहू दूसरी बार चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने इस विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2018 में चुनाव लड़ा था। ताम्रध्वज साहू दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से सांसद भी रह चुके हैं। दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के ललित चंद्राकर चुनाव लड़ रहे हैं।

केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह की सीट

कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा सीट अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित है। इस सीट पर भाजपा के नेत्री केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह को भाजपा ने चुनाव मैदान पर उतार कर इसे हाई प्रोफाइल बना दिया है। रेणुका सिंह सरगुजा लोकसभा क्षेत्र की सांसद भी हैं। तेजतर्रार छवि के कारण वह अक्सर चर्चा में भी रहती हैं। छत्तीसगढ़ भाजपा सरकार में वह 2003 में मंत्री भी रह चुकी हैं। कांग्रेस से विधायक गुलाब सिंह कामरो मैदान में हैं।पूर्व राज्यसभा सदस्य और महापौर आमने-सामने

रामानुजगंज सीट से सातवीं बार चुनाव मैदान में उतरे राम विचार नेता भाजपा के बड़े आदिवासी नेताओं में एक हैं। भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का दायित्व भी निभा चुके हैं।भाजपा के राष्ट्रीय सचिव के साथ राज्यसभा सदस्य व छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार में कई बड़े विभागों के मंत्री भी रह चुके हैं। उनके सामने कांग्रेस ने अंबिकापुर के महापौर डा. अजय तिर्की को चुनाव मैदान में उतारा है। इस सीट पर इस बार कांटे का मुकाबला है।

मंत्री अमरजीत भगत की सीट पर निगाहें

सीतापुर विधानसभा सीट से खाद्य मंत्री का दायित्व निभाने वाले अमरजीत भगत लगातार पांचवीं बार चुनावी मैदान में है। उनके सामने इस बार भाजपा ने राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार से सम्मानित पूर्व सैनिक राम कुमार टोप्पो को चुनाव मैदान में उतारकर इस सीट को रोचक बना दिया है।

पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल और विधायक शैलेष

बिलासपुर सीट पर भाजपा के कद्दावर नेता व पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल मैदान पर हैं वह वर्ष 1998 से 2018 तक बिलासपुर विधानसभा से विधायक रहे। उनके सामने कांग्रेस से विधायक शैलेष पांडेय दोबारा मैदान में हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष साव और थानेश्वर साहू

बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद व प्रदेश भाजपाध्यक्ष अरुण साव लोरमी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी हैं। उनके सामने थानेश्वर साहू चुनावी मैदान में हैं जो कि राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष हैं।

सक्ती सीट से विधानसभा अध्यक्ष महंत

विधानसभा के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत सक्ती विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं। भाजपा से डा. खिलावन साहू मैदान में हैं।

नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल की ये सीट

छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल जांजगीर-चांपा विधानसभा से लगातार छठवीं बार चुनाव लड़ रहे हैं। तीन बार चुनाव जीते और दो बार पराजित हुए। उनके सामने इस बार कांग्रेस के लिए नए चेहरे के रूप में व्यास कश्यप चुनावी मैदान में हैं।

Add Rating and Comment

Enter your full name
We'll never share your number with anyone else.
We'll never share your email with anyone else.
Write your comment
CAPTCHA

Your Comments

Side link

Contact Us


Email:

Phone No.