• 26-02-2024 05:19:14
  • Web Hits

Poorab Times

Menu

बिपरजॉय कच्छ से 170KM दूर, 8 बजे टकरा सकता है:कच्छ-सौराष्ट्र में भारी बारिश

गुजरात के तटीय इलाकों की तरफ बढ़ रहा चक्रवात बिपरजॉय बेहद खतरनाक हो चुका है। मौसम विभाग के अनुसार, यह गुरुवार शाम तक कच्छ के जखौ पोर्ट पहुंचेगा। इस दौरान हालात बेहद खराब हो सकते हैं। मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने बताया कि चक्रवात बिपरजॉय सौराष्ट्र, कच्छ की तरफ बढ़ रहा है। यह जखौ से करीब 170 किमी और द्वारका से 210 किमी की दूरी पर है। हवाओं की रफ्तार 125'35 किमी प्रति घंटे रफ्तार से चल रही है। उन्होंने कहा, 'यह शाम 8 बजे तट से टकरा सकता है। यह अति गंभीर चक्रवाती तूफान है। इसकी वजह से पेड़, छोटे मकान, मिट्टी और टिन के घरों को नुकसान हो सकता है। कच्छ और सौराष्ट्र के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इन इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है।' गुजरात मौसम विभाग ने दैनिक भास्कर को बताया कि तूफान दक्षिणी अरब सागर में पैदा होने के बाद गुजरात तट के करीब पहुंचने तक कई बार रास्ता बदलता रहा। इससे यह कमजोर हुआ है, लेकिन कई बार खतरनाक हुआ है। गुजरात के प्रभावित 8 जिलों से 75 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। मौसम विभाग के अनुसार, गुजरात और महाराष्ट्र समेत कर्नाटक, लक्षद्वीप, केरल, असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और पश्चिमी राजस्थान में इसका असर देखा जा रहा है। यहां के कई इलाकों में तेज हवाएं चल रही हैं और बारिश हो रही है। गुजरात के साथ महाराष्ट्र और कर्नाटक में भी असर। इन इलाकों में NDRF की 33 टीमें तैनात की गई हैं। कोस्ट गार्ड, आर्मी और नेवी की रेस्क्यू और रिलीफ टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है। इन इलाकों में चक्रवात के गुजर जाने के बाद यातायात और बिजली व्यवस्था बहाल करने के लिए करीब छह सौ टीमें बनाई गई हैं।

  • गुजरात के आठ तटीय जिलों में 75 हजार लोगों लोगों को अस्थायी शिविर में ले जाया गया है। अकेले कच्छ जिले से 34 हजार से ज्यादा लोगों को निकाला गया। इसके बाद जामनगर में 10 हजार, मोरबी में 9,243, राजकोट में 6,089, देवभूमि द्वारका में 5,035, जूनागढ़ में 4,604, पोरबंदर में 3,469 और गिर सोमनाथ जिले में 1,605 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है।
  • गुजरात के कच्छ जिले में धारा 144 लगा दी गई है। पश्चिम रेलवे ने चक्रवात संभावित क्षेत्रों में 67 ट्रेन रद्द की हैं, 25 के रूट बदले हैं।
  • पाकिस्तान में भी चक्रवात बिपरजॉय को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। वहां के मौसम विभाग के अनुसार आज सिंध के केटी बंदर से चक्रवात बिपरजॉय टकराएगा। तूफान बिपरजॉय की वजह से गुजरात के द्वारकाधीश मंदिर को बंद कर दिया है। यह फुटेज गुरुवार सुबह की है। आपदा को टालने के लिए द्वारकाधीश मंदिर पर 2 ध्वज फहराए गए हैं।

25 साल में जून में गुजरात से टकराने वाला पहला तूफान
बिपरजॉय पिछले 25 साल में जून महीने में गुजरात के तट से टकराने वाला पहला तूफान होगा। इससे पहले 9 जून 1998 को एक तूफान गुजरात के तट से टकराया था। तब पोरबंदर के पास 166 KMPH की रफ्तार से हवा चली थी। बीते 58 साल की बात करें तो 1965 से 2022 के बीच अरब सागर के ऊपर से 13 चक्रवात उठे। इनमें से दो गुजरात के तट से टकराए। एक महाराष्ट्र, एक पाकिस्तान, तीन ओमान-यमन और छह समुद्र के ऊपर कमजोर पड़ गए।

Add Rating and Comment

Enter your full name
We'll never share your number with anyone else.
We'll never share your email with anyone else.
Write your comment
CAPTCHA

Your Comments

Side link

Contact Us


Email:

Phone No.